गले की खराश में प्राकृतिक तरीके एवम सही इस्तेमाल

गले की खराश में तुरंत राहत के लिए कारगर प्राकृतिक घरेलू उपचार क्या है ?

यदि निम्न घरेलू प्राकृतिक तरीकों का सही तरीके से इस्तेमाल किया जाए तो आप गले की खराश में बहुत तेजी से राहत पा सकते हैं

गले में खराश से तुरंत राहत के लिए गरारे करना –

गले में खराश की एलर्जी को ठीक करने का सबसे आसान तरीका है गरारे करना। ऐसा करने से गले की खराश दूर होती है और इससे पीड़ित लोगों को जल्दी आराम मिलता है। हर 2 घंटे के बाद, गर्म पानी में नमक डालकर गरारे करें। क्योंकि गर्म पानी और नमक गले को ठंडक देते हैं और एंटीसेप्टिक होने के कारण यह संक्रमण को कम करने में भी मदद करता है

इसे भी पढें👇👇

नौकासन : जानिए फायदे, करने की विधि और सावधानियां


खारा पानी एक एंटीसेप्टिक के रूप में काम करता है और बलगम को बाहर निकालने में मदद करता है। यह कफ को कम करता है और सूजन से त्वरित राहत प्रदान करता है। वजन कम करने और उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए गुनगुना पानी भी उपयोगी है।

गले की खराश से जल्द राहत के लिए गर्म पानी पीना –

गरारे करने के साथ-साथ गले में खराश की एलर्जी का इलाज भी गर्म पानी पीकर किया जा सकता है। गले में खराश होने पर प्यास लगने पर गुनगुना पानी पिएं। इसके अलावा, गर्म तरल पदार्थ जैसे कि शोरबा, शहद और नींबू, और हल्दी दूध भी पिया जा सकता है।

गले में खराश की एलर्जी- शहद से घरेलू उपचार

शहद के बहुत ही लाभकारी अध्ययन है। गले की खराश से राहत के लिए शहद के बहुत फायदेमंद उपयोग हैं-

अदरक का एक टुकड़ा लें और इसे पानी में अच्छी तरह से धो लें और इसे छोटे टुकड़ों में काट लें। अब अदरक के इन टुकड़ों को दो गिलास पानी में मिलाकर एक बर्तन में उबालने के लिए रख दें। इसे तब तक उबालें जब तक पानी एक गिलास न हो जाए। अब पानी को छान लें और इसे एक गिलास में रखें और इसमें एक चम्मच शहद मिलाएं। अब इस पानी को घूंट-घूंट करके पी लें। इसका सेवन करने के साथ-साथ गरारे भी कर सकते है।

इससे गले को जल्दी आराम मिलेगा और गले की खराश जल्द से जल्द ठीक हो जाएगी। इस प्रक्रिया को आप दिन में दो बार अपना सकते हैं।

दो चम्मच शहद लेने से खांसी में आराम मिलता है। शहद में मौजूद रोगाणुरोधी गुण न केवल गले को आराम देते हैं बल्कि संक्रमण पैदा करने वाले बैक्टीरिया को भी खत्म करते हैं।

गाजर, फल, सब्जियां, सलाद, जो भी आप चाहते हैं, वह खाएं। प्राकृतिक रूप से आंखों की रोशनी बढ़ाने के लिए भी गाजर बहुत फायदेमंद है।

इसके अलावा गले में खराश, दर्द होने पर आप ग्रीन टी को थोड़ा ठंडा करके उसमें शहद मिलाकर पी सकते हैं। ग्रीन टी आपको हाइड्रेटेड रखती है, जो गले के इलाज में एक और महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

ग्रीन टी एंटीबैक्टीरियल और एंटीऑक्सिडेंट्स का एक समृद्ध स्रोत के रूप में कार्य करता है। जो सूजन से भी राहत दिलाता है। ग्रीन टी रक्त में ऑक्सीजन के स्तर को बढ़ाने के लिए भी उपयोगी है।

गले की खराश को दूर करने के लिए आप अदरक और शहद का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके लिए आप अदरक, शहद और नींबू के रस को गर्म पानी में मिलाकर काढ़ा बना सकते हैं। खांसी के इलाज में शहद बहुत प्रभावी है।

शहद एक हाइपरटोनिक के रूप में भी कार्य करता है जिसका अर्थ है कि यह सूजन वाले ऊतकों से पानी निकाल सकता है। यह गले में सूजन को कम करने में मदद करता है।

काली मिर्च, तुलसी और मिश्री का उपयोग –

1 कप पानी में 4-5 कालीमिर्च और 5 तुलसी के पत्ते उबालकर काढ़ा बना लें, इसके बाद इस पानी को धीरे-धीरे पिएं। काली मिर्च को 2 बादाम के साथ पीसकर खाने से गले की समस्याओं में आराम मिलता है। शरीर में विष की उपस्थिति से गले में खराश बढ़ जाती है, इसलिए अधिक से अधिक तरल पदार्थों का सेवन करना चाहिए। जिसके कारण शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकल जाते हैं।

आप काली मिर्च को मिश्री के साथ चबा भी सकते हैं। काली मिर्च और मिश्री खाने से गले की एलर्जी और दर्द कम होता है

गले में खराश एलर्जी में लौंग और लहसुन का उपयोग

लौंग एक बहुत ही समृद्ध जड़ी बूटी है। एक कप गर्म पानी में एक या तीन चम्मच लौंग पाउडर या लौंग मिलाएं और इसे पी जाएं। इससे गले के दर्द या गले की खराश में आराम मिलता है।

इसके अलावा, दो से तीन लौंग के साथ एक से दो लहसुन की कलियों को पीसकर पेस्ट बना लें, इसमें थोड़ा सा शहद मिलाएं। इस मिश्रण को दिन में दो या तीन बार लें। इससे आराम मिलेगा। लौंग और लहसुन को मुंह में रखकर चूसा भी जा सकता है। इससे गले की खराश में तुरंत आराम मिलेगा।

लहसुन बहुत फायदेमंद होता है। लहसुन व्यक्ति के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। लहसुन में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो गले की खराश और सूजन को कम करते हैं। लहसुन में एलिसिन नामक एक विशेष तत्व होता है, जो संक्रमण पैदा करने वाले बैक्टीरिया को मारता है। प्राकृतिक रूप से प्रतिरोधक क्षमता को बेहतर बनाने के लिए भी लहसुन बहुत उपयोगी है

इसे भी पढें👇👇

थायराइड संबंधी समस्याओं के लक्षण, कारण और आयुर्वेदिक उपचार


हल्दी के सेवन से गले की खराश का इलाज-

एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच हल्दी मिलाएं। इस मिश्रण को सुबह खाली पेट धीरे-धीरे पिएं। इसके एंटीसेप्टिक गुण सूजन को कम करते हैं। गले के दर्द या कण्ठमाला की तकलीफ को कम करने में हल्दी के औषधीय गुण बहुत उपयोगी हैं। दूध में थोड़ी सी हल्दी डालकर उबालें और सोने से पहले पीने से आराम मिलता है

अनार का उपयोग गले में खराश और एलर्जी से राहत दिला सकता है-

अनार के जूस का सेवन करने से गले की खराश एलर्जी और दर्द को कम किया जा सकता है और अनार बहुत ही गुणकारी होती है साथ ही इसे सेहतमंद रहने के लिए भी उपयोग किया जा सकता है

गले की खराश से राहत के लिए हर्बल टी और ग्रीन टी –

तुलसी, लौंग, काली मिर्च और अदरक के साथ चाय का सेवन करने से गले की खराश और गले से जुड़ी हर समस्या से एक पल में राहत मिल जाएगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि इन सभी चीजों की प्रकृति गर्म होती है और इनमें एंटी-बैक्टीरियल गुण भी होते हैं। यही कारण है कि हर्बल चाय को बहुत फायदेमंद माना जाता है।

ग्रीन टी का इस्तेमाल कई बीमारियों के इलाज में किया जाता है। यह संक्रमण या गले की एलर्जी को रोकने का काम करता है। रोजाना दो बार ग्रीन टी पिएं। गले की खराश, दर्द के इलाज में ग्रीन टी बहुत मददगार है। यह विभिन्न रोगों में और स्वस्थ रहने के लिए भी उपयोगी है

गले की एलर्जी और दर्द में सेब का सिरका फायदेमंद है-

एक कप गर्म पानी में एक चम्मच सेब का सिरका और एक चम्मच नींबू का रस और शहद मिलाएं। इस मिश्रण को धीरे-धीरे पिएं। जल्द ही आपके गले में सूजन (गले में खराश) और दर्द कम हो जाएगा, पोषक तत्वों के लिहाज से भी सेव बहुत ही गुणकारी होता है

गले में खराश और एलर्जी के मामले में नींबू का उपयोग –

नींबू गले के दर्द या गले के रोगों से राहत देता है। आप एक कप गर्म पानी में आधा नींबू निचोड़कर पी सकते हैं। आधा नींबू में नमक और काली मिर्च डालकर चाट सकते हैं। नींबू, गले के दर्द के लिए फायदेमंद है, नींबू में भी प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने वाले कारक होते हैं

गले में खराश और दर्द के लिए दालचीनी का उपयोग –

गले के खराश, दर्द या गले के रोग में दालचीनी बहुत फायदेमंद है। एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच दालचीनी पाउडर और एक चम्मच काली मिर्च पाउडर मिलाएं। इसे छानकर दिन में 2 से 3 बार पिएं। यह गले के दर्द के रोग में लाभ प्रदान करेगा।

गले के खराश और दर्द में मेथी के फायदे-

गले में खराश और सूजन होने पर मेथी का उपयोग बहुत फायदेमंद होता है। मेथी के बीज में मौजूद बलगम को बाहर निकालने के गुण गले की खराश, दर्द और सूजन को कम करते हैं। यह स्वस्थ दांतों के लिए भी बहुत फायदेमंद है।

गले में खराश और दर्द के लिए मुलेठी का उपयोग –

मुलेठी की जड़, गले की समस्या को कम करती है और बलगम को बाहर निकालने में मदद करती है,

गले में खराश एलर्जी में फिटकरी के फायदे –

1/2 गिलास गर्म पानी में 200 ग्राम फिटकरी के साथ गार्गल करें। इससे गले की खराश और दर्द से बहुत जल्द राहत मिलती है

गले में खराश से राहत के लिए स्टीमिंग शावर –

स्टीमिंग शॉवर लेना या ह्यूमिडिफायर का उपयोग करने से सर्दी, गले में खराश या खांसी के लक्षण कम हो सकते हैं। नम हवा में सांस लेने से आपके नाक और गले आदि में सूजन के ऊतकों को शांत करने में मदद मिल सकती है।

Add a Comment

Your email address will not be published.