उत्तानमंडूकासन : फायदे और योग विधि

उत्तानमंडूकासन : योग क़ी इस उन्नत श्रेणी के जानिये फायदे और योग विधि

संस्कृत में ‘उत्तान’ का अर्थ तना हुआ और ‘मंडूक’ का अर्थ मेढक होता है। उत्तानमंडूकासन की अंतिम मुद्रा में शरीर सीधे तने हुए मेढक के समान लगती है, इसलिए यह नाम दिया गया है। इस आसन में सिर को कोहनियों से थामा जाता है ताकि सिर पीछे की ओर न जाए। अगर इसको सही तरीके से किया जाए तो इसके बहुत सारे स्वस्थ लाभ है।

बच्चों के मोबाइल व टैबलेट प्रयोग करने के 10 दुष्प्रभाव जिनसे बच्चों को हो रही ऐसी परेशानियां…. (👈👈👈इसे भी पढ़ें)

उत्तानमंडूकासन के लाभ

उत्तानमंडूकासन डायाफ्राम की गति को सुधारने में सहायक होता है।

उत्तानमंडूकासन के नियमित अभ्यास से आप पीठ दर्द से मुक्ति पा सकते हैं।

इस आसन के लगातार अभ्यास से आप कंधे के दर्द को रोक सकते हैं।

उत्तानमंडूकासन आसन आपके कोहनी को भी सबल बनाता है।

इसके अभ्यास से धीरे धीरे आपके घुटने मजबूत होने लगता है।

उत्तानमंडूकासन को अगर बहुत देर तक मेन्टेन किया जाए तो इससे पेट के बगल के चर्बी को कम किया जा सकता है।

मल्टीग्रेन आटे में छिपा है सेहत का खजाना घर पर कैसे करें तैयार (👈👈👈इसे भी पढ़ें)

यह योगाभ्यास गले के दर्द में लाभकारी है।

उत्तानमंडूकासन अडाशय और टेस्टिस के लिए भी लाभकारी है।

इसके नित्य अभ्यास से आप अपने श्वसन सम्बन्धी परेशानियों को भी सुधार सकते हैं।

उत्तानमंडूकासन योग क़ी विधि

सबसे पहले एक साफ समतल और शांत स्थान पर आसन बिछाकर उस पर आप वज्रासन में बैठ जाएं।

दोनों घुटनों को आगे से चौड़ा करें

अब आप दाईं बांह उठाएं, मोड़ें और दाएं कंधे के ऊपर से सिर के पीछे ले जाकर हथेली को बाएं कंधे के नीचे रख दें।

उसी तरह से अब आप बाईं बांह को मोड़ें तथा सिर के ऊपर से ले जाकर हथेली को दाएं कंधे के नीचे रख दें।

न्यूमोनिया को ठीक करने के 4 आसान उपाय, कीजिये और स्वस्थ रहिये ताकि आगे परेशानियों से न हो सामना. (👈👈👈इसे भी पढ़ें)

अपने आपको ऊपर की ओर खीचें।शरीर को जितना हो सके रीढ़ क़ी हड्डी को सीधा रखे

कुछ समय इसी मुद्रा में रहें

पुनः मूल अवस्था में वापस आते समय धीरे-धीरे बार्इं बांह और फिर दाईं बांह हटाएं।

घुटनों को आरंभिक अवस्था मे ले आएं।

यह एक चक्र हुआ।

इस तरह से आप 3 से 5 चक्र करें।

क्षमतानुसार धीरे धीरे इसकी अवधि को बढ़ाएं।

कोरोना के तीसरे स्ट्रेन से बच्चों को बचाने अभी से करे तैयारी, इलेक्ट्रो होम्योपैथी और अन्य घरेलू नुस्खे से ऐसे बढ़ाई जा सकती है बच्चों की इम्यूनिटी (👈👈👈इसे भी पढ़ें)

उत्तानमंडूकासन:में सावधानी

कमर में अत्यधिक दर्द होने पर उत्तानमंडूकासन का अभ्यास ना करें

अगर आपके घुटने में परेशानी हो तो इस आसन का अभ्यास न करें।

कंधे में बहुत दर्द य़ा कोहनी में दर्द होने पर भी इस आसन का अभ्यास नहीं करनी चाहिए।

Add a Comment

Your email address will not be published.