पेट के कीड़े बनाम अजवायन, ठीक करें इन उपायों से

तुलसी के पत्तों के 10 मिलीलीटर(एक चम्मच) रस को गर्म करके सुबह और शाम देने से बच्चों के पेट में कीड़े मरकर मल के साथ बाहर निकल जाते हैं।

सूखी अजवायन को पीसकर प्राप्त हुए चूर्ण को 1 से 2 ग्राम को खुराक के रूप में छाछ के साथ पीने से पेट के कीड़े समाप्त हो जाते हैं।

4 ग्राम अजवायन के बारीक चूर्ण को 1 गिलास छाछ के साथ पीने या अजवायन के तेल की लगभग 7 बूंदों को प्रयोग करने से लाभ होता है।

4 से 5 बूंद अजवायन के रस को पानी में डालकर सेवन करने से आराम मिलता है।

मुंह की लार SALIVA का हमारे जीवन में महत्व (👈👈इसे भी पढ़े)

2 चुटकी अजवायन को गुड़ के साथ प्रयोग करें पेट के कीड़ों में लाभ मिलेगा।

अजवायन का बारीक चूर्ण करके आधा ग्राम की मात्रा में गुड़ के साथ मिलाकर छोटी-छोटी गोलियां बनाकर दिन में 3 बार खिलाने से छोटे बच्चों (3 से लेकर 5 साल तक) के पेट के कीड़े मरकर मल के साथ बाहर निकल जाते हैं।

अजवायन का चूर्ण खिलाने से पहले गुड़ 10 ग्राम और बड़ों को लगभग 24 ग्राम की मात्रा में खिलाने से कीड़े पेट में इकट्ठा हो जाते हैं, फिर आधा ग्राम छोटे बच्चों को और बड़ों को 1 से 2 ग्राम की मात्रा में अजवायन का चूर्ण पानी के साथ खिलाने से पेट के कीड़ें मरकर मल के साथ बाहर निकल जाते हैं।

उत्तानमंडूकासन : फायदे और योग विधि (👈👈इसे भी पढ़े)

अजवायन का आधा ग्राम बारीक चूर्ण और चुटकी भर कालानमक मिलाकर सोने से पहले बच्चों को और बड़ों को 2 ग्राम की मात्रा में खिलाने से पेट में मौजूद कीड़े समाप्त हो जाते हैं।

Add a Comment

Your email address will not be published.